उद्धार का सींग - लिग्निएर मिनिस्ट्रीज़
अचूक शब्द
4 मई 2023
छुड़ाने वाला कुटुम्बी
11 मई 2023

उद्धार का सींग

परमेश्वर ने “हमारे लिए उद्धार का एक सींग निकाला है” (लूका 1:69)। वृद्ध याजक और यूहन्ना बपस्तिमा देने वाले के पिता जकरयाह ने इसी प्रकार से ख्रीष्ट के होने वाले जन्म की उद्घोषणा की थी। परन्तु उसके द्वारा उपयोग किए गए “सींग” का चित्रण कैसे ख्रीष्ट के आगमन और उसके कार्य पर प्रकाश चमकाता है? इस चित्रण का स्रोत क्या है, और यह हमें अपने उद्धारकर्ता और हमारे उद्धार के विषय में क्या सिखाता है?

दाऊद ने “उद्धार के सींग” के रूप में परमेश्वर की स्तुति की (भजन 18:2), और बहुत समय से उस “सींग” के रूप में ख्रीष्ट की प्रतीक्षा की जा रही थी जिसे ऊँचा किया जाएगा (1 शमूएल 2:10; भजन 132:17)। बहुत लोग सींग के चित्रण को एक बलशाली पशु की सामर्थ्य और प्रभाव को दर्शाते हुए देखते हैं, जिससे ख्रीष्ट के द्वारा परमेश्वर के कार्य की फलोत्पादकता को चित्रित किया जाता है। सींग को विजय के चित्रण के रूप में भी देखा जा सकता है, जिस में “सींग ऊँचा” होना परमेश्वर की विजय और उसके लोगों के उल्लास को दर्शाता है (1 शमूएल 2:1; भजन 75:10)। जबकि सामर्थ्य और उल्लास का चित्रण निस्सन्देह बाइबलीय ही है, यह पूर्ण रीति से इस बात को नहीं समझाता है कि कैसे सींग उद्धार  के लिए एक चित्रण है, जिसे एक ऐसे उद्धारकर्ता ने उपलब्ध कराया है जो एक विनम्र मेमने के रूप में आया न कि एक बलशाली बारहसिंगा के रूप में।

“सींग” के रूप में अनुवाद किये गये शब्द (इब्रानी में केरेन-qeren) को पुराने नियम में मुख्यतः पशुओं के लिए नहीं वरन् मिलाप वाले तम्बू और मन्दिर में वेदियों के लिए उपयोग किया जाता है। उदारण के लिए, “सींग” लोबान की वेदी की एक विशेषता है (निर्गमन 30:2-3)। सम्भवतः ये सींग वेदी के चार कोनों में ऊपर की ओर उठी होंगी। परमेश्वर ने आज्ञा दी कि महायाजक “एक बार उसके सींगों पर प्रायश्चित्त करे” (निर्गमन 30:10), जैसा कि प्रायश्चित्त के दिन होता था जब एक बछड़े और एक बकरे के लहू को “वेदी के चारों ओर सींगों पर लगाया” जाता था (लैव्यव्यवस्था 16:18)। इसी के समान, पापबलि के लिए भी एक बछड़े के लहू को “वेदी के सींगों पर” लगाया जाना था (लैव्यव्यवस्था 4:7)। बछड़ों और बकरों का लहू  प्रायश्चित्त को चित्रित करता था, परन्तु यह वेदी की सींगों  पर था जिसे लहू का प्रायश्चित्त चित्रित करता था।

याजकीय सेवा में और इस्राएल की आराधना के जीवन में, वेदी के सींग अमिट रीति से लहू के बहाए जाने के द्वारा प्रायश्चित्त के प्रावधान से जुड़े हुए थे। वे परमेश्वर की क्षमा की विधि-सम्बन्धी चित्रण में कोई छोटा स्थान नहीं रखते थे जिसको ख्रीष्ट द्वारा पूरा किया जाएगा। सम्भवतः वेदी के सींग और पाप के लिए प्रायश्चित्त के मध्य के इसी सम्बन्ध के कारण पुराने नियम के कई लोग, जब उनको डर था कि उन्हें मारा जाएगा, तो वे वेदी के सींगों को पकड़ते थे। ऐसा करना दया की याचना करना था।

इस पृष्ठभूमि को ध्यान में रखते हुए, जकरयाह याजक के लिए सींग को प्रायश्चित्त के साथ जोड़ना स्वाभाविक हुआ होगा। इसलिए, यह महत्वपूर्ण प्रतीत होता है कि जब जिब्राईल जकरयाह पर प्रकट हुआ, तो वह धूप की वेदी के पास खड़ा था, उन्हीं “सींगों” के सामने जिन पर शताब्दियों से ख्रीष्ट के कार्य को चित्रित किया गया था (लूका 1:11)। इस घटना के बाद जकरयाह कुछ समय के लिए गूँगा था, परन्तु जब अन्ततः उसकी जीभ खुली तो उसने ख्रीष्ट के जन्म की भविष्यद्वाणी की और उसने ख्रीष्ट को “हमारे लिए उद्धार का एक सींग” कहा (लूका 1:69)। इस सींग पर प्रायश्चित्त का लहू एक बार सब के लिए, और “हमारे लिए” बहाया जाएगा।

हर वर्ष वेदी के सींगों पर छिड़का जाने वाला लहू उस उद्धार को नहीं उपलब्ध करा सका जिसे वह चित्रित कर रहा था (इब्रानियों 10:1-4)। पृथ्वी पर के तम्बू का हर तत्व ख्रीष्ट के आने की तैयारी कर रहा था और उसको पहले से चित्रित कर रहा था, और ख्रीष्ट वह महान् महायाजक है जिसके स्वयं का बलिदान उसके लोगों के पापों का निर्णायक रीति से और सर्वदा के लिए प्रायश्चित्त करने वाला था (9:23-28)। अब हम आनन्दित हो सकते हैं और धन्यवाद दे सकते हैं कि उस प्राचीन वेदी के सींगों के स्थान में एक “उद्धार का सींग” उठाया गया है। इस सींग पर एक ही बार लहू लगाया गया, परन्तु उस पर केवल वही लहू लगाया गया जो हमें सब पाप से शुद्ध करने में सक्षम है (1 यूहन्ना 1:7)।

वेदी के सींगों को पकड़ना प्राचीन काल में दया की विनती करने का एक चिन्ह हो सकता था, परन्तु यह दया की निश्चयता नहीं थी। अदोनिय्याह और योआब ने ऐसा किया परन्तु फिर भी उन्हें अपने पापों के परिणाम का सामना करना पड़ा (1 राजा 1:50-53; 2:25, 28-34)। किन्तु परमेश्वर ने यीशु ख्रीष्ट में अपने सब लोगों के लिए एक सच्चे और अनन्त उद्धार के सींग का प्रावधान किया है। केवल विश्वास के द्वारा मात्र उसको पकड़ना ही परमेश्वर के साथ शान्ति और पाप की क्षमा प्राप्त करना है। 

यह लेख मूलतः लिग्निएर मिनिस्ट्रीज़ ब्लॉग में प्रकाशित किया गया।

क्लेटन जे. विलियम्स
क्लेटन जे. विलियम्स
डॉ. क्लेटन जे. विलियम्स पिट्सबर्ग में रिफॉर्म्ड प्रेस्बिटेरियन थियोलॉजिकल सेमिनेरी में पुराने नियम के अध्ययन के प्राध्यापक हैं। वे द शैडो ऑफ क्राइस्ट इन द बुक ऑफ जोब।