आर.सी. स्प्रोल, Author at लिग्निएर मिनिस्ट्रीज़

लिग्निएर का ब्लॉग

हम डॉ. आर. सी. स्प्रोल का शिक्षण संघ हैं। हम इसलिए अस्तित्व में हैं ताकि हम जितने अधिक लोगों तक सम्भव हो परमेश्वर की पवित्रता को उसकी सम्पूर्णता में घोषित करें, सिखाएं और रक्षा करें। हमारा कार्य, उत्साह, और उद्देश्य है कि हम लोगों को परमेश्वर के ज्ञान और उसकी पवित्रता में बढ़ने में सहायता करें।

 
12 जुलाई 2022

मत्ती की साक्षी

बाइबलीय अध्ययन के इतिहास में, हमने पिछली दो शताब्दियों में तथाकथित “उच्चतर आलोचना” (higher criticism) का उदय देखा है। अत्याधिक उच्चतर आलोचना बाइबलीय स्थलों की विश्वसनीयता के सन्दर्भ में सन्देहवाद के द्वारा अधिक भड़काई जाती है।
14 अप्रैल 2022

क्या प्रार्थना बातों को बदलती है?

जब एक मसीही प्रार्थना करता है तो क्या इससे कोई अंतर पड़ता है? क्या यह कुछ बदलती है? यद्यपि हमारी प्रार्थनाएँ परमेश्वर के मन को नहीं बदलती हैं, वह अपनी इच्छा को पूरी करने के लिए प्रार्थना को एक साधन के रूप में नियुक्त करता है।
5 अप्रैल 2022

दुख उठाना और परमेश्वर की महिमा

मैं एक बार एक महिला से मिलने गया जो गर्भाशय के कैंसर से मर रही थी। वह अत्यन्त ही व्यथित थी, परन्तु केवल अपनी शारीरिक रोग के कारण नहीं।
3 फ़रवरी 2022

किससे बचाए गए?

मसीहियत का विश्व-प्रसिद्ध प्रतीक क्रूस है। क्रूस यीशु की सेवकाई के सार को निश्चित रूप देता है। यह उसके महान दुख-भोग के सबसे गहरे पहलू को प्रकट करता है।
4 जनवरी 2022

यीशु कौन है?

यद्यपि यीशु के विषय में अनेक विचार है किन्तु उसको सच्चाई से समझने के लिए हमें बाइबल में देखना होगा। इस पुस्तिका में डॉ. आर.सी. स्प्रोल बाइबलीय वृतान्त की जाँच करते हुए परमेश्वर के पुत्र के रूप में ख्रीष्ट का एक विश्वसनीय रूपचित्र प्रस्तुत करते हैं।
1 अक्टूबर 2021

विश्वास की दौड़

विश्वास की दौड़ डॉ. आर.सी. स्प्रोल हमारे जीवन की सबसे महत्वपूर्ण दौड़ का वर्णन करता है: विश्वास की दौड़। इस मुफ्त ईबुक को अपने परिवार और दुनिया भर के दोस्तों के साथ साझा करें ताकि उन्हें यीशु मसीह की खुशखबरी से प्रोत्साहित किया जा सके और उस दौड़ पर ध्यान केंद्रित करने के लिए बुलाया जा सके जो सबसे ज्यादा मायने रखती है।
26 मार्च 2021

“कोरम डेओ ” का अर्थ क्या है?

मुझे स्मरण है कि मम्मी मेरे सामने खड़ी थी, उनके हाथ उनकी कमर पर थे, उनकी आँखें आग के गर्म अंगारों जैसे चमक रही थीं और उन्होंने उच्च स्वर में कहा, “क्या बड़ा विचार है, हे जवान?”
11 मार्च 2021

छुटकारे की वाचा क्या है?

एक परम्परा के अनुसार जब सृष्टि के सिद्धान्त के सम्बन्ध में एक संदेहवादी के द्वारा उपहास किया गया, संत ऑगस्टीन से व्यंग्य पूर्वक तरीके से पूछा गया था, “परमेश्वर संसार की सृष्टि करने से पहले क्या कर रहा था? ऑगस्टीन का कथित उत्तर था: “वह जिज्ञासू आत्माओं के लिए नरक बना रहा था।”
4 मार्च 2021

परमेश्वर का भय मानने का क्या अर्थ है?

हमें बाइबल पर आधारित परमेश्वर के “भय” के अर्थ के विषय में कुछ महत्वपूर्ण भेद बनाने की आवश्यकता है। ये भेद सहायक हो सकते हैं, किंतु ये थोड़े ख़तरनाक भी हो सकते हैं। जब लूथर ने उससे संघर्ष किया, तो उसने यह भेद बनाया, जो तब से थोड़ा प्रसिद्ध हो गया: उसने दास के भय और संतान के भय के मध्य भेद किया।