_2019_TT_04 copy 2

ख्रीष्ट वरन क्रूस पर चढ़ाए गए ख्रीष्ट

अप्रेल 2019 का टेबलटॉक प्रकाशन इस बात को सम्बोधित करेगा कि “ख्रीष्ट वरन क्रूस पर चढ़ाए गए ख्रीष्ट” (1 कुरिन्थियों 2:2) का अर्थ क्या है। ख्रीष्टीय लोग क्रूस के लोग हैं, क्योंकि कलवरी पर ख्रीष्ट का प्रायश्चित्त का कार्य हमारे विश्वास के केन्द्र में है। फिर भी, जब कि विश्वासी जानते हैं कि यीशु पापियों के लिए मरा, बहुत ख्रीष्टीय लोगों के पास ख्रीष्ट के कार्य की व्यापक समझ नहीं है, कि उससे क्या प्राप्त हुआ, वह किस के लिए अर्पित किया गया था, छुटकारे के इतिहास में उसका क्या स्थान है, और यह उनके प्रतिदिन के जीवन में कैसे व्यावहारिक रीति से लागू होता है।

टेबलटॉक का यह प्रकाशन विश्वासियों की सहायता करने का प्रयास करेगा कि अपने विश्वास के मूल तत्वों को अच्छे से समझें, एक प्रकार की प्रवेशिका के रूप में सेवा करते हुए हमारे प्रभु के छुटकारे के विषय में और इस विषय में कि उसने क्या पूरा किया। ऐसा करने के द्वारा, यह ख्रीष्ट के कार्य के भिन्न पहलुओं के सम्बन्ध में सामान्य त्रुटिपूर्वक धारणाओं और समझ को उत्तर भी देगा।
 

 
25 मई 2021

क्रूस का ईश्वरविज्ञान

आज कलीसिया के लिए मेरा सबसे बड़ा भय यह है कि हम ख्रीष्ट के क्रूस से कहीं ऊब न जाएं। मुझे चिन्ता है कि ख्रीष्ट और उसके क्रूस पर चढ़ाए गए ख्रीष्ट का कोई भी उल्लेख के कारण ख्रीष्टीय कहने वाले लोग स्वयं से कहते हैं:
26 मई 2021

संघीय प्रमुखतावाद

प्रेरित पौलुस यह नहीं मानता था कि मनुष्य मूल रूप से अच्छे लोग हैं जो बुरे कार्य करते हैं। रोमियों के लिए उसकी पत्री के आरम्भिक अध्याय इस मुख्य बात के प्रति समर्पित हैं कि, यीशु ख्रीष्ट को छोड़कर, प्रत्येक मनुष्य स्वभाव से अधर्मी, दोषी और मृत्यु के योग्य है।
27 मई 2021

दोहरा उपचार

ऑगस्टस टॉपलेडी के अठारहवीं शताब्दी के भजन “रॉक ऑफ एजस ” (युगों की चट्टान) कविता के दो पंक्तियां यह वर्णन करती है कि ख्रीष्ट का प्रायश्चित ख्रीष्टीय के जीवन में क्या लाता है: “पाप का दोहरा उपचार करो, मुझे इसके दोष और सामर्थ्य से बचाओ।” एक अन्य चट्टान प्रेरित पतरस (पेट्रॉस का अर्थ “पत्थर” है) के जीवन तथा उसकी शिक्षा पर एक दृष्टि, इन हृदयस्पर्शी पंक्तियों के अर्थ में अन्तदृष्टि प्रदान करेगा।
28 मई 2021

छुटकारा लागू किया गया

किसी भी अन्य बालक के जैसे जन्म लेकर (गलातियों 4:4), यीशु “बुद्धि, डील-डौल और परमेश्वर तथा मनुष्यों के अनुग्रह में” बढ़ता गया (लूका 2:52)। कुछ लोगों द्वारा उसे एक श्रेष्ठ नायक के रूप में चित्रित करने के समकालीन प्रयासों के होते हुए भी, मरियम की मांस-और-लहू की सन्तान में “न रूप था, सौन्दर्य कि हम उसे देखते, न ही उसका स्वरूप ऐसा था कि हम उसको चाहते” (यशायाह 53:2)।
29 मई 2021

क्रूस के प्रकाश में जीवन

कई धर्मसुधारवादी विश्वासियों के समान, मैं परमेश्वर की स्तुति करता हूँ उसके अद्भुत अनुग्रह के लिए, न केवल अपने उद्धार के लिए, पर उसके बाद अनुग्रह के सिद्धान्तों को जानने के लिए उसकी स्तुति करता हूँ।