बर्क पार्सन्स, Author at लिग्निएर मिनिस्ट्रीज़ - Laman 2 dari 2

लिग्निएर का ब्लॉग

हम डॉ. आर. सी. स्प्रोल का शिक्षण संघ हैं। हम इसलिए अस्तित्व में हैं ताकि हम जितने अधिक लोगों तक सम्भव हो परमेश्वर की पवित्रता को उसकी सम्पूर्णता में घोषित करें, सिखाएं और रक्षा करें। हमारा कार्य, उत्साह, और उद्देश्य है कि हम लोगों को परमेश्वर के ज्ञान और उसकी पवित्रता में बढ़ने में सहायता करें।

 
1 जुलाई 2021

परमेश्वर का सच्चा इस्राएल

कुछ दिन पहले हमने सेन्ट एंड्रूज़ चैपल में, शाम की रविवारीय आराधना सभा में निर्गमन की पुस्तक के ढाई वर्ष के अध्ययन का समापन किया। यह बहुत अद्भुत यात्रा थी जब हम मिस्र देश से निकले, लाल समुद्र में से होकर निकले, जंगल में से होकर निकले, सीनै पर्वत पर चढ़े और उतरे, और प्रतिज्ञा किए हुए देश की ओर बढ़े
25 जून 2021

नियंत्रण से बाहर और नियंत्रण में

कभी-कभी, ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे पूरा संसार पागल हो गया है और नियंत्रण से बाहर हो रहा है। इन सभी संघर्ष और भ्रम के साथ, हम स्वाभाविक रीति से अपने बच्चों और हमारे बच्चों के बच्चों के लिए एक गम्भीर और वास्तविक चिन्ता रखते हैं क्योंकि वे एक ऐसे संसार का सामना करते हैं जो अराजकता और शत्रुता में बढ़ रहा है।
22 जून 2021

करने वाले, केवल सुनने वाले नहीं

एक स्थानीय कलीसिया के पास्टर के रूप में, उन वर्षों में मैं अनेक लोगों से मिल चुका हूँ जो कलीसिया में जाते हुए बड़े नहीं हुए और उन्होंने कभी भी पवित्रशास्त्र या पवित्रशास्त्र के ईश्वरविज्ञान का अध्ययन नहीं किया।
15 जून 2021

हमारा त्रिएक परमेश्वर

यह बढ़ते हुए प्रचलित हो रहा है कि लोग अपने संस्करण के सत्य के सन्दर्भ में बात करते हैं। वे “मेरा सत्य” और “आपका सत्य” जैसे वाक्यांशों को उपयोग करते हैं, मानो कि सत्य के अलग-अलग संस्करण हैं। मैंने लोगों को “मेरे सत्य” की बात करते हुए सुना है विभिन्न विषयों के सन्दर्भ में, जिनमें इतिहास, नैतिकता, विज्ञान, और धर्म सम्मिलित हैं।
25 मई 2021

क्रूस का ईश्वरविज्ञान

आज कलीसिया के लिए मेरा सबसे बड़ा भय यह है कि हम ख्रीष्ट के क्रूस से कहीं ऊब न जाएं। मुझे चिन्ता है कि ख्रीष्ट और उसके क्रूस पर चढ़ाए गए ख्रीष्ट का कोई भी उल्लेख के कारण ख्रीष्टीय कहने वाले लोग स्वयं से कहते हैं:
17 मई 2021

अनुग्रह के सामान्य साधन

मैंने कभी किसी ख्रीष्टीय को यह कहते नहीं सुना कि वह विश्वास नहीं करता कि परमेश्वर सम्प्रभु नहीं है। परन्तु मैंने कई ख्रीष्टियों को इस प्रकार परमेश्वर की सम्प्रभुता को परिभाषित करते हुए सुना है जो अन्ततः मनुष्य को परमेश्वर पर सम्प्रभु बनाता है।
9 मई 2021

भय से स्वतन्त्रता

संसार एक संकटमय स्थान है, जिसमें संकटपूर्ण वस्तु और असुरक्षित लोग भरे हुए हैं। प्रत्येक कोना आपत्ति, कठिन श्रम, तथा फन्दे से भरा हुआ है क्योंकि बुराई वास्तविक है।
4 मई 2021

परमेश्वर की इच्छा को जानना

जब लोग परमेश्वर की इच्छा को ढूंढने का प्रयास करते हैं, तो वे प्रायः अपने जीवन के लिए परमेश्वर के सम्पूर्ण योजना के अनुसार सही निर्णय लेने के विषय में सोचते हैं।