ब्लॉग - लिग्निएर मिनिस्ट्रीज़

लिग्निएर का ब्लॉग

हम डॉ. आर. सी. स्प्रोल का शिक्षण संघ हैं। हम इसलिए अस्तित्व में हैं ताकि हम जितने अधिक लोगों तक सम्भव हो परमेश्वर की पवित्रता को उसकी सम्पूर्णता में घोषित करें, सिखाएं और रक्षा करें। हमारा कार्य, उत्साह, और उद्देश्य है कि हम लोगों को परमेश्वर के ज्ञान और उसकी पवित्रता में बढ़ने में सहायता करें।

 
21 फ़रवरी 2021

एक भली पत्नी की आशीष

कुछ प्रभाव एक व्यक्ति के हृदय को परमेश्वर के लिए उसकी पत्नी से अधिक प्रभावित करते हैं, अच्छे के लिए या बुरे के लिए। वह या तो प्रभु के प्रति उसकी आत्मिक भक्ति को प्रोत्साहित करेगी या उसमें बाधा डालेगी।
19 फ़रवरी 2021

हमको अपने दिन गिनना सिखा

इस पद के साथ प्राय: ऐसे व्यवहार किया जाता है जैसे कि यह एक नीतिवचन था जिसका अर्थ है, “जीवन क्षणिक है, इसलिए बुद्धिमानी से जियो।
18 फ़रवरी 2021

कलीसिया को सुधारने की आवश्यकता पर जॉन कैल्विन

450 से अधिक वर्ष पहले, जॉन कैल्विन के पास एक अनुरोध आया कि वह कलीसिया में सुधार के लिए आवश्यकता और चरित्र के विषय में लिखें।
17 फ़रवरी 2021

सत्य के लिए गढ़: मार्टिन लूथर

मार्टिन लूथर इतिहास का एक बड़ा व्यक्ति था। कुछ का मानना है कि वह दूसरी सहस्राब्दी का सबसे महत्वपूर्ण यूरोपियन व्यक्ति था। वह मार्ग-निर्माता धर्मसुधारक था।
15 फ़रवरी 2021

गहन ईश्वरविज्ञान

क्या आपने कभी कल्पना की है कि कैसे होगा यदि आप कुछ ही घंटों के भीतर मरने जा रहे हैं—एक वृद्ध व्यक्ति के रूप में नहीं, वरन् ऐसे व्यक्ति के रूप में जो मरने के लिए दोषी ठहराया गया हो यद्यपि वह सब अपराध से निर्दोष है?
14 फ़रवरी 2021

ख्रीष्टीय, क्या आप परमेश्वर की व्यवस्था से प्रेम करते हैं?

अक्टूबर 2015 में एक पी.जी.ए. टूर टूर्नामेंट में, बेन क्रेन ने अपना दूसरा राउंड पूरा करने के बाद स्वयं को अयोग्य घोषित कर दिया। उसने ऐसा आर्थिक कीमत को ध्यान में रखते हुए किया। कुछ भी हो—क्रेन ने माना कि ऐसा न करने की व्यक्तिगत कीमत अधिक होगी
13 फ़रवरी 2021

यीशु का क्या अर्थ था जब उसने कहा कि हम उससे भी महान कार्य करेंगे?

सबसे पहले, उसने यह अपने शिष्यों से कहा, और यदि हमसे कह भी रहा, तो सीधे-सीधे नहीं। वह पहली शताब्दी की कलीसिया से बात कर रहा है, वह कहता है कि उनके कार्य महान होंगे उसके द्वारा किए गए कार्यों से (यूहन्ना 14:12)।
11 फ़रवरी 2021

पवित्र आत्मा की सेवा

धर्म-सुधारकों ने मसीह की सम्पूर्ण देह के लिए पवित्र आत्मा के वरदानों पर अत्यधिक बल दिया। जॉन कैल्विन का वर्णन उचित रीति से किया गया है कि वह “पवित्र आत्मा का ईश्वरविज्ञानी” (बी.बी. वॉरफील्ड) है ।
10 फ़रवरी 2021

अनुग्रह के सिद्धान्त : उसके अनुग्रह के द्वारा और उसकी महिमा के लिए

अनुग्रह के सिद्धान्तों को यह नाम दिया जाता है क्योंकि ईश्वरविज्ञान के इन पाँच प्रमुख शीर्षकों में, जिन्हें प्रायः बाइबलीय कैल्विनवाद के पाँच बिन्दुओं के रूप में पहचाना जाता है, परमेश्वर के उद्धार देने वाले अनुग्रह की शुद्धतम अभिव्यक्ति पाई जाती है।